Sat. Mar 2nd, 2024

ताप्ती मंदिर ट्रस्ट में सदस्यों को बढ़ाने को लेकर हुई वोटिंग सदस्य बढ़ाने के पक्ष में 3 विपक्ष में 10 वोट आये

गगनदीप खेरे
मुलताई। मां ताप्ती मंदिर ट्रस्ट की मीटिंग तहसील कार्यालय के सभाकक्ष में सम्पन्न हुई। जिसमें तहसीलदार अनामिकासिंह ने कहा कि ट्रस्ट के पुर्नगठन की आवश्यकता है। राजेन्द्र भार्गव ने प्रस्ताव रखा कि ट्रस्ट में सदस्य बढ़ाये जाये। जिस पर अन्य सदस्यों ने आपत्ति ली। जिस पर तहसीलदार अनामिकासिंह ने ट्रस्ट में सदस्य बढ़ाने को लेकर ट्रस्ट के सदस्यों से हाथ खड़े कर वोटिंग कराई। जिसमें मां ताप्ती मंदिर ट्रस्ट में सदस्यों को बढ़ाने के पक्ष में गगनदीप खेरे, राजेन्द्र भार्गव, प्रशांत भार्गव ने वोट किया। वहीं ट्रस्ट में सदस्य नहीं बढ़ाने को लेकर अजय यादव, पुरूषोत्तम अग्रवाल, चिन्टू खन्ना, किशोर परिहार सहित अन्य सदस्यों ने वोट किया। ट्रस्ट में सदस्य बढ़ाने के पक्ष में मात्र 3 वोट आये, वहीं नहीं बढ़ाने को लेकर 10 वोट आये।
उसके बाद मंदिर निर्माण को लेकर चर्चा हुई। जिसमें गगनदीप खेरे ने प्रस्ताव रखा की मांं ताप्ती कॉरीडोर की ड्राइंग डिजाइन एवं अधिग्रहण स्थल का पता लगने के बाद मंदिर का निर्माण किया जावे। जिसमें वर्तमान बने मंदिर को छेड़े बिना पहले आजु बाजु एवं उपर से पूर्ण मंदिर निर्माण किया जावे। उसके बाद मंदिर को अन्दर से हटाया जाये।


बैठक में सदस्यों ने मंदिर के क्षतिग्रस्त होने पर चिंता व्यक्त करते हुए जल्दी मंदिर निर्माण का प्रस्ताव रखा।
बैठक में अजय यादव ने सदस्यों से 11000 रु वार्षिक शुल्क जमा करने का प्रस्ताव रखा। जिसे पास नहीं किया गया। इसके स्थान पर स्वेच्छा से मंदिर में दान करने की बात रखी गई।
अजय यादव एवं चिन्टू खन्ना ने मां ताप्ती के प्राचीन मंदिर को ट्रस्ट में शामिल किये जाने हेतु कार्यवाही करने का प्रस्ताव रखा गया। बैठक में ताप्ती मंदिर एवं अन्य मंदिर की भूमि को चिन्हित करने पर भी चर्चा हुई।
बैठक की प्रस्ताव पंजी देखने पर पता चला की ताप्ती मंदिर ट्रस्ट की प्रस्ताव पंजी में सदस्यों द्वारा दिये प्रस्ताव लिखे ही नहीं जाते है। मात्र कुछ ही प्रस्तावों को लिखा जाता है। प्रस्ताव पंजी में सभी सदस्यों के प्रस्ताव लिखे जाने चाहिए।
बैठक समाप्त होने के बाद नपा अध्यक्ष वर्षा गढ़ेकर तहसील कार्यालय पहुंची और तहसीलदार कक्ष में सदस्यों के साथ तहसीलदार से पुन: चर्चा की। जिसमें शासन स्तर से ताप्ती कॉरीडोर एवं ताप्ती लोक को लेकर उसकी ड्राइंग डिजाइन एवं अधिग्रहण स्थल की जानकारी प्राप्त करने हेतु चर्चा की जिससे पता चल सके की ताप्ती कॉरिडोर एवं ताप्ती लोक का क्या स्वरूप होगा। जिससे उसके अनुरूप ताप्ती मंदिर निर्माण की रूपरेखा बनाई जा सके।


चन्दु देशमुख ने कहा कि जो सदस्य कई मीटिंग में नहीं आए है। उन्हे हटाया जाना चाहिए। वहीं कुछ सदस्यों की राय थी कि वर्तमान सदस्यों की सहमति से ही नए सदस्यों को जोड़ा जाये। जबकि इस नियम का पहले पालन नहीं किया गया है।
वहीं कुछ सदस्यों की राय थी वर्तमान सदस्यों को स्थाई सदस्य बना कर बड़ी संख्या में अस्थायी सदस्य जोड़े जाये जिन्हे निर्णय लेने का अधिकार नहीं दिया जाये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *