Sun. Mar 3rd, 2024

नहर से पानी नहीं मिलने से सूख रही फसलें

किसानों की नहीं सुन रहे जिम्मेदार अधिकारी

बैतूल। झल्लार में ग्राम के रामजीढाणा डेम बोथिया मार्ग की नहर में गेहंू, मटर की फसल बोने के बाद से एक भी बार पूरा पानी नहीं छोड़ा गया है। इससे किसानों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। क्षेत्र के किसानों ने एसडीएम सर से नहर में पानी छुड़वाने की मांग की है।

नहर के किनारे अधिकांश क्षेत्रफल में सिंचाई के लिए नहर के पानी के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं है। किसानों का कहना है कि अगर एक सप्ताह तक नहर में पूरा पानी न आया तो उनकी फसल बर्बाद हो जाएगी। किसान जीतू राने ने बताया कि उनकी लगभग अस्सी फीसदी खेती नहर के किनारे है। नहर के पानी के अलावा कोई दूसरा सिंचाई का साधन नहीं है। अब अगर नहर में पानी नहीं आया तो उनको नुकसान होगा।

झल्लार निवासी किसान केसोराव वरठी का कहना है कि गोवंश से परेशान किसान पूरी रात खेतों की रखवाली कर रहा है। किसान की खेतों में खड़ी फसल गोवंश नष्ट कर रहे हैं। जो फसल बची है वह पानी के अभाव में उजड़ रही है।

सुनील पांसे का कहना है चुनाव के दौरान प्रत्येक दल के नेता किसानों की हित में बात कर रहे हैं थे लेकिन आज तक किसी भी नेता ने नहर में पानी न आने की समस्या को प्रमुखता से नहीं रखा है एक तरफ़ किसानों की फ़सल चौपट हो रही ना नहर का पानी मिल रहा है। अगर जल्द जल्द झल्लार रामजीढाना डेम का पानी बोथिया मार्ग की नहर को नहीं मिला तो हमसैकड़ों सभी किसानों की फसल सूखने लगी है।

अगर समय से नहर में पानी न आया तो नहर के किनारे बसे कई गांवों में फसल नष्ट हो सकती है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *