Sun. May 19th, 2024

मधुमक्खियों के हमले से पीड़ित की उपचार के दौरान हुई मौत

मुलताई। तहसील क्षेत्र अंतर्गत आने वाले ग्राम करपा में बुधवार को मृत ग्रामीण का अंतिम संस्कार करने के लिए बड़ी संख्या में ग्रामीण मृतक की अंतिम यात्रा में गुरुवार को मोक्षधाम पहुंचे थे। जहां ग्रामीणों पर अचानक मधुमक्खियों ने धावा बोल दिया था। यूं तो दर्जनों ग्रामीण मधुमक्खियों के हमले का शिकार हुए थे । जिसमें रमेश नगदे भी शामिल था।गुरुवार को मधुमक्खियों के हमले से रमेश बेहोश हो गया था। जिसे पहले सरकारी अस्पताल लाया था।जहा से परिजन निजी अस्पताल ले गए थे। जिसकी शुक्रवार सुबह निजी अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई । उल्लेखनीय है कि बीते गुरुवार को ग्राम करपा निवासी बबलू हजारे का अंतिम संस्कार करने के लिए बड़ी संख्या में ग्रामीण मोक्षधाम पहुंचे थे। मोक्षधाम के पास स्थित पेड़ पर मधुमक्खी का छत्ता बना हुआ था। अचानक मधुमक्खियां बिफर गई और ग्रामीणों पर हमला कर दिया था ।मधुमक्खियों से बचने
के लिए ग्रामीण शव को मोक्षधाम में छोड़कर घरों की ओर भागे थे। मधुमक्खी के हमले से दर्जनों ग्रामीण घायल हो गए थे। घायलों को सरकारी अस्पताल पहुंचाया था । ग्रामीणों के साथ मोक्ष धाम गया ग्राम करपा निवासी रमेश पिता किसनलाल नगदे 45 साल को भी मधुमक्खियो ने काट दिया था। जिसका सरकारी अस्पताल में उपचार करने के बाद परिजन हालत गंभीर होने से नगर के निजी अस्पताल में उपचार के लिए ले गए थे। मृतक के भतीजे नितेश नगदे ने बताया शुक्रवार सुबह 12 बजे के करीब रमेश की उपचार के दौरान मौत हो गई । शुक्रवार को मृतक के पुत्र अंकित नगदे की सूचना पर पुलिस ने मर्ग कायम कर शव का पोस्ट मार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया।

रमेश की मौत के बाद शुक्रवार को दर्जनों ग्रामीण उपचार कराने पहुंचे अस्पताल

शुक्रवार को मधुमक्खियों के काटने की घटना में आहत रमेश नगदे की मौत की खबर लगते ही जो घटना के बाद मधुमक्खियां की चपेट में आने के बाद अधिकांश ग्रामीण घर पर ही उपचार करा रहे थे। उन्होंने अस्पताल पहुंचकर उपचार कराना उचित समझा।शुक्रवार को दोपहर तीन बजे के बाद तक मधुमक्खियों के हमले की चपेट में आए ग्रामीण दर्जनों की संख्या में उपचार के लिए सरकारी अस्पताल पहुंचे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *