Fri. Jun 14th, 2024

मुफ्त अनाज के साथ बाटे जा रहे नमक में निकल रही रेत गरीबों की सेहत से किया जा रहा खिलवाड़

tapti samanvya


मुलताई ताप्ती समन्वय । प्रदेश में गरीबों को पांच किलो अनाज प्रति सदस्य के मान से राशन के साथ नमक प्रदान किया जा रहा है। उक्त नामक में रेत की मात्रा निकलने का मामला सामने आया है। शासन की इस योजना को संचालित करने के पीछे कोरोना काल के समय से यह थी कि कोइकोई भी गरीब परिवार भूखा न रहे। जिसके बाद अब इस योजना को सरकार द्वारा पांच साल और बढ़ा दिया। जिससे गरीब तबके के परिवारों को मुफ्त में प्रति सदस्य पांच किलो अनाज मिलता रहेगा। लेकिन इस योजना में प्रदान किए जा रहे नमक की गुणवत्ता का मापदंड तय करने वालों ने पहली बार सही पाया होगा। किंतु उसके बाद इसकी गुणवत्ता की जांच नही की। जिसका फायदा नमक सप्लाई करने वाली कंपनी द्वारा उठाते हुए गरीबों के जीवन से खिलवाड़ कर अपनी जेब भारी जा रही है। हल ही में दीपावली के महीने में बाते गए राशन के साथ प्रदान किए गए नमक में रेत निकल रही है। जिससे सेवन से गरीब गंभीर बीमारी की चपेट में आ सकते है। समन्वय संवाददाता को नमक में रेत निकलने की जानकारी लगी तो उन्होंने इसकी सच्चाई जानने हेतु उपभोक्ता जिसे सोसायटी से नमक मिला था से संपर्क किया। जिसके बाद नमक को स्टील के बर्तन में पानी में डाल दिया। कुछ समय बाद पानी में नमक घुल गया जबकि नमक में मिली रेत स्टील के बर्तन की सतह पर जमी नजर आई। अब इस मामले में सवाल यह उठ रहा है की गरीबों मुफ्त में बाते जा रहे आंज के साथ प्रदान किए जा रहे नमक के साथ धीमा जहर याने धीरे धीरे बीमारी गरीबों को बाटी जा रही है ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *