Fri. Feb 23rd, 2024

रेत के भाव आसमान पर, गरीबों के आशियाने नही हो पा रहे पूरे


मुलताई। नगर सहित आंचलिक क्षेत्र में इन दिनो रेत की भारी किल्लत बनी हुई है। रेत की कमी से एक ओर जहां गरीबों के आशियाने नही बन पा रहे है तो दूसरी ओर रेत के दाम आसमान पर होने से होने से यह गरीब तबके की पहुंच से दूर है। बीते सप्ताह रेत के दाम एक ट्राली आठ हजार में मिल रही थी।

अब जिसमे अब थोड़ी कमी जरूर आई है, लेकिन वह भी ऊंट के मुंह में जीरा की कहावत को चरितार्थ करती है। रेत के दामों में अचानक उछाल आने के पीछे खदानों से रेत के खनन पर प्रतिबंध होना बताया जा रहा है। हालाकि अब रेत खदानों से रेत खान पर लगे प्रतिबंध हटने के बाद भी दाम प्रति ट्रॉली 6 हजार रुपए से ऊपर ही है।

जिससे मकान बनाने वाले गरीब तबके के बजट को बिगाड़ने में हावी है। पहले एक ट्रॉली रेत 3 से 4 हजार रुपए में मिल जाती थी जो अब दोगुने दाम पर पहुंच गई है। वही रेत माफियाओ की मनमानी भी रेत के दामों को बढ़ावा देने में पीछे नहीं है। बहरहाल रेत के दामों में कमी आने के कोई आसार भी नजर नही आ रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *