Fri. Feb 23rd, 2024

सहारा इंडिया के खिलाफ फूटा उपभोक्ताओं का गुस्सा

एजेंट अंकित राठौर, मैनेजर अखिलेश गुजरे पर गबन करने का आरोप

बैतूल। सहारा इंडिया के निवेशकों ने जमकर हंगामा किया है। सैकड़ों की तादाद में निवेशक भैंसदेही थाने पहुंचे और सहारा इंडिया के भैंसदेही कार्यालय,थाना कार्यालय और एसडीएम कार्यालय सामने सहारा इंडिया के एजेंट अंकित राठौर, मैनेजर अखिलेश गुजरे के खिलाफ नारेबाजी करते हुए शिकायती आवेदन दिया है इतना ही नहीं सहारा इंडिया कार्यालय को बंद भी कर दिया।

यह लगाए आरोप

निवेशकों का आरोप है की एजेंटों द्वारा जमाकर्ताओं पर सहारा इंडिया कंपनी में पैसे जमा करने के लिए दबाव डाला जा रहा है। धमकियां दी जा रही है कि जो पैसे जमा करना बंद कर देंगे उनके पैसे डूब जाएंगे। लोगों ने अपनी गाढ़ी कमाई से पैसे बचाकर सहारा इंडिया में जमा किया है लेकिन समय बीतने के बाद भी उनके खातों में पैसे नही आ रहे है। जमाकर्ताओं ने प्रशासन से मांग करते हुए कहा कि उनका फसा हुआ पैसा दिलवाया जाए और भैंसदेही के एजेंटों पर कार्यवाही की जाएं। जमाकर्ताओं का गुस्सा देखकर पुलिस ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम कर रखे थे बड़ी संख्या में जमाकर्ता आक्रोशित थे। जिन्हें पुलिस ने समझाइश देकर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है।

थाने में की शिकायत

सहारा इंडिया के भैंसदेही एजेंट अंकित राठौर के खिलाफ निवेशकों के द्वारा दिए गए ज्ञापन में उल्लेख किया गया है कि एजेंट अंकित राठौर के पास करोड़ों रुपए की संपत्ति हो चुकी है और उसके पास लग्जरी गाडी और करोड़ों रुपए का बांग्ला भी बनाया गया है। जो की निवेशकों के पैसे का ही उपयोग इसमें अंकित राठौर के द्वारा किया जा सकता है। जिसकी जांच की मांग भी निवेशकों ने थाना प्रभारी अंजना धुर्वे को दिए गए ज्ञापन में भी कही है।

मेहनत की कमाई की थी जमा

सहारा इंडिया कंपनी में पैसे जमा करने वाले उपभोक्ता लक्ष्मी नारायण मालवीय का कहना है कि क्षेत्र के माताएं बहनों और व्यापारियों ने अपनी मेहनत की कमाई एफ डी और आर.डी के रूप में  एजेंट के पास राशि जमा कराई। साथ ही समय अवधि पूरी होने के बाद भी एजेंट के द्वारा पैसा नहीं दिया जा रहा है और एजेंट के द्वारा यहां धमकी दी जा रही है कि आपसे जो बनता है आप कर लीजिए। साथी लक्ष्मी नारायण मालवीय ने यहां भी कहा कि हम सभी राशि जमा करने वाले उपभोक्ताओं की तीन मांगे हैं जिसमें पहली मांग यह है कि सहारा इंडिया ऑफिस को बंद किया जाये। साथ ही अवैध वसूली को बंद किया जाए और जिस जिस उपभोक्ताओं की समय अवधि पूरी हो चुकी है उपभोक्ताओं को उनका पैसा वापस दिया जाए। भैंसदेही सहारा इंडिया ऑफिस की ब्रांच में लगभग क्षेत्र के उपभोक्ताओं द्वारा जमा किए गए पैसे की राशि लगभग 50 करोड रुपए के आसपास की हो सकती है। जो की जमा करने वाले गरीब बेसरा लोगों की राशि को एजेंट और मैनेजर के मिली भगत से उसे गबन किया जा रहा है।

इनका कहना…

समस्त उपभोक्ताओं के द्वारा एक लिखित आवेदन प्रस्तुत किया गया है जिसके आधार पर एजेंट और मैनेजर के खिलाफ जांच कर उचित कार्रवाई की जाएगी।

अंजना धुर्वे, थाना प्रभारी, भैंसदेही

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *