Tue. Apr 23rd, 2024

जगतगुरु संत श्री तुकाराम महाराज जी के नाम से हुआ चौक का नामकरण

पांढुरना:- नगर के महावीर वार्ड तिराहे पर वसंत पंचमी के पावन पर्व पर जगतगुरु संत श्री तुकाराम महाराज चौक का लोकार्पण किया गया, हिन्दू सम्प्रदाय के आराध्य भगवान श्री विट्ठल भगवान के प्रति अपना जीवन समर्पित कर अपनी एकनिष्ठ भक्ति द्वारा जगत कल्याण हेतु अनेकानेक अभंग, आध्यात्म को बढ़ावा देने वाले वारकरी सम्प्रदाय एवम कुनबी समाज के आराध्य जगतगुरु संत श्री तुकाराम महाराज उनका जन्म वसंत पंचमी माघ शुद्ध पंचमी, हिंदू चंद्र कैलेंडर के उज्ज्वल पखवाड़े के पांच वें दिन को महाराष्ट्र के देहू गांव में बोल्होबा और कनकई में हुआ था. संत की उपाधि प्राप्त करने से पहले उनका नाम तुकाराम बोल्होबा अम्बिले (मोरे) था. तुकाराम ने फाल्गुन के द्वितीया दिवस पर अवतरित होने के बाद बैकुंठ के लिए प्रस्थान किया. क्षेत्र के कुनबी समाज के अनुयायियों द्वारा नगर पालिका परिषद में नगर के महावीर वार्ड के तिराहे (मोक्षधाम रोड/विट्ठल मंदिर रोड/समता कालेज) मार्ग के चौक का नामकरण जगतगुरु संत तुकाराम महाराज चौक एवः प्रतिमा स्थल की मांग की गई थी, आवेदन पर परिषद द्वारा प्रस्ताव पर सहमती अनुसार वसंत पंचमी के अवसर पर जगतगुरु संत तुकाराम महाराज चौक का नामकरण का आयोजन किया था, इस अवसर पर चौक में प्रस्तावित प्रतिमा एवम चौक नामकरण का बोर्ड का लोकार्पण नगर पालिका अध्यक्ष सन्दीपजी घाटोडे, श्रीमंती वैशाली ताई महाले भाजपा जिला अध्यक्ष, रामरावजी टोम्पे कुनबी समाज अध्यक्ष, द्वारा संत तुकाराम महाराज एवम छत्रपती शिवाजी महाराज जी के प्रतिमा का पुजन कर पुष्प माला अर्पण कर श्री फल फोड़ कर फीता काटकर लोकार्पण किया, इसी के साथ नपा अध्यक्ष संदीप घाटोंडे द्वारा उदबोधन में बताया कि जगतगुरु संत तुकाराम महाराज महान संत थे आज पांढुरना नगर के तिराहे का नामकरन करने का अवसर मेरे जीवन का अलौकिक शन है, आज हम सभी पांढुरना वासी धन्य है । हमारे नगर के एक चौक के नाम में जगत गुरु संत तुकाराम महाराज के नाम होने से नगर के सौंदर्यीकरण तथा भक्ति का महत्वपूर्ण योगदान होगा, श्रीमंती वैशाली बाई ने अपने उदबोधन मे बताया हमारा पांढुरना धार्मिक नगर के नाम से पहचाना जाता है, नगर के महावीर वार्ड का ऐसा स्थान था जो एकांत एरिया था, नगर में निकलने वाली शोभायात्रा या अन्य आयोजनों इसी मार्ग से होते हुए नगर भ्रमण करते है।इस एकांत मार्ग पर संत तुकाराम महाराज चौक होने से इस चौक का भाग्य उदय हुआ, आने वाले समय पर हम सभी मिलकर, इस चौक में भव्य तुकाराम महाराज एवः छत्रपती शिवाजी महाराज की प्रतिमा स्थापित कर प्रतिवर्ष भव्य आयोजन सम्पन्न किया जाएगा, श्री तुकारामजी वानखड़े द्वारा संत तुकाराम महाराज के जीवन चरित्र पर प्रकाश डालते हुए बताया जब महाराज जी द्वारा छत्रपती को गुरु मंत्र प्रदान कर स्वराज्य की स्थापना हेतु अग्रसर किया था, इस अवसर पॉवन अवसर पर दुर्गेश उइके पार्षद संजय इंगोले, राजु भाऊ बॉम्बल, बाबा भाऊ तहकित, प्रमोद बाम्बल आदि समाज सेवी नागरिक उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *