Fri. Jul 19th, 2024

पुलिस ने किया अंधे कत्ल का खुलासा, बेटी ने पति के साथ मिलकर की थी पिता की हत्याशव को बंद पड़े ढाबे के बाथरूम में पेट्रोल डालकर जलाया था

मुलताई। थाना क्षेत्र में बीते 15 फरवरी 2024 को हाईवे पर स्थित ग्राम चिचंड़ा के सीमा में स्थित बंद पड़े ढाबे में मिले जले शव की घटना का पुलिस ने अंधे कत्ल का खुलासा करने में सफलता हासिल की है। मृतक की उसकी पुत्री और दामाद ने ही हत्या की थी।
थाना प्रभारी राजेश सातनकर ने बताया बीते 15 फरवरी को ग्राम चिचंडा के सरपंच अंकित कालभोर द्वारा सूचना प्राप्त हुई थी कि गांव का कैलाश कालभोर सुबह करीबन 9 बजे निर्मल गुजरे के बंद पड़े क्रेजी फूड ढाबा के पास अपने जानवर चरा रहा था। उसी दौरान लघु शंका के लिए ढाबे के पीछे बने बाथरूम मे गया तो बाथरूम के अंदर एक जली हुई लाश पड़ी दिखी थी। जो पूरी तरह जली हुई थी । रिपोर्ट पर अपराध पंजीबध्द कर विवेचना में लिया गया।
विवेचना के दौरान मृतक का पी.एम भोपाल के डाक्टरों की पैनल से कराया गया। पी.एम. रिपोर्ट में डॉक्टर द्वारा मृतक की आयु (40-60) एवं मृतक के सिर के बालो की लम्बाई 12 सेमी. तक होना बताया।
थाना प्रभारी श्री सातनकर ने बताया
प्रकरण मे अज्ञात मृतक की शिनाख्त और अज्ञात आरोपी की पता तलाश हेतू टीम गठित की गई। वरिष्ठ अधिकारियो के दिशा निर्देश अनुसार टीम गठित कर घटना स्थल के आस- पास के सीसीटीव्ही कैमरे चैक किये गये । कैमरे चैक करने पर घटना दिनांक समय अनुसार वाहन क्रमांक एम एच 35 एजी 1359 की उपस्थिति संदिग्ध पाई गयी। संदिग्ध वहां किरन पति पुरषोत्तम कावले निवासी A-2 अष्टविनायक अपार्टमेंट वार्ड नं. 11 जैन रिसोर्ट कॉलोनी तहसील गोरेगांव जिला गोंदिया महाराष्ट्र का रजिस्टर्ड होने की जानकारी हाथ लगी। वाहन मालिक के संबंध में जानकारी प्राप्त करने हेतू एक टीम को गोंदिया रवाना किया गया। टीम द्वारा वाहन मालिक की जानकारी प्राप्त करने हेतू गोरेगांव जिला गोंदिया पहुँचकर आस पास के रहवासियों से हिकमत अमली से वाहन मालिक के बारे मे पूछताछ करने पर बताया गया कि वाहन स्वामी किरण कावले का पति पुरषोत्तम कावले म्यूजिक टीचर था। जिसका हुलिया जानने पर पता लगा की वह बड़े बाल रखता था और बालो मे ब्राउन कलर लगाता था। शराब पीने का आदी था।जिन्हे मृतक के फोटो ग्राफ्स, अंगूठी एवं पी.एम रिपोर्ट मे लेख हुलिया बताकर पूछताछ करने पर मृतक का हुलिया किरण कावले के पति पुरुषोत्तम कावले जैसा ही होना और जो लगभग 4 माह से अपने घर पर नही दिखना बताया गया। पुरुषोत्तम कावले के परिजनों के संबंध में पूछताछ करने पर भाई दिलिप कावले पिता नारायण कावले निवासी बजरंग चौक खात रोड शिवाजी नगर भण्डारा में तथा पत्नि किरण कावले अपनी बहन के घर ग्राम बाघबोडी जिला भंडारा में होनें की जानकारी मिली। इस स्थिति में टीम द्वारा भंडारा पहुंचकर पुरषोत्तम कावले के भाई दिलिप कावले और पत्नि किरण कावले को मृतक का हुलिया, फोटोग्राफ्स एवं अंगूठी दिखाकर पहचान करने पर पत्नि किरण कावले एवं भाई दिलिप कावले द्वारा मृतक पुरुषोत्तम कावले पिता नारायणराव कावले निवासी गोरेगांव का शव होना बताया। मृतक की पत्नि किरण कावले से पुछताछ करने पर उसके द्वारा बताया गया कि पति पुरषोतम शराब पीने के आदी थे। तथा लोगो से उधार पैसे लेते थे। लोगो द्वारा पैसे मांगनें आनें पर बिना बताये फोन बंद कर घर से चले जाते थे। 13 फरवरी.2024 को वह उसकी लडकी मोनिका बाडबुदे के घर काटोल में थी। उसके पति पुरुषोत्तम कावले अपने घर गोरेगांव में थे । जिन्होनें उन्हे फोन करके बताया था कि उसकी तबियत खराब है। तो वह उन्हें देखनें जानें वाली थी। लेकिन उसकी बेटी मोनिका बोली कि तुम मत जाओ मैं और पति राहुल दोनो कार से चले जाते है और शाम करीबन 6 बजे दोनो कार से गोरेगाव गये थे, जो कि दूसरे दिन सुबह करीबन 5 बजे वापस काटोल आ गये थे। उनसे पुछनें पर बेटी ने बताया कि पापा की तबीयत खराब नही है। वे बहुत शराब पी रहे है तथा हमें लडाई- झगडा कर घर से भगा दिया है।तथा कंही चले जानें का बोल रहे थे। फोन लगाने पर उनका फोन भी नहीं लग रहा था। घटना के संबंध में मृतक की बेटी मोनिका बाडबुदे तथा दामाद राहुल बाडबुदे से घटना के संबंध में हिकमत अमली से पुछताछ में उन्होंने बताया 13 फरवरी को वह दोनो मम्मी की कार क्रमांक एम एच-35-एजी-1359 से पापा को देखने के लिये काटोल से गोरेगावं गये थे । रात लगभग 10.45 बजे गोरेगांव पंहुचे थे। मृतक पुरुषोत्तम कावले अत्यधिक शराब के नशे में थे ।जिसके साथ बेटी मोनिका एवं दामाद राहुल बाडबुदे का विवाद हुआ था ।जिस पर बेटी मोनिका और दामाद राहुल ने पुरुषोत्तम के साथ मारपीट कर जान से मार दिया और मृतक के शव को कार की डिक्की में रखकर काटोल लेकर आये तथा दुसरे दिन 14 फरवरी को को नागपुर-बैतूल हाईवे पर क्रेजीफुड ढाबे के पीछे बनें बाथरूम में मृतक पुरुषोत्तम के शव को पेट्रोल डालकर जला दिया।मृतक तथा आरोपीगणो के मोबाईल नम्बरो की भी जानकारी लेनें पर मृतक के नम्बर पर अन्तिम काल आरोपी राहुल के मोबाईल नम्बर का ही है तथा आरोपीगणो की उपस्थिति भी घटनास्थल पर पाई गई तथा मृतक का मोबाईल फोन भी आरोपियों के कब्जे से जप्त किया गया है। पुलिस ने विवेचना उपरांत मोनिका पति राहुल बाडबुदे उम्र 33 साल और उसके पति राहुल बाडबुदे पिता नामदेवराव बाडबुदे उम्र 36 साल दोनो निवासी सरोदे लेआउट सावरगाव रोड डोंगरगाव, तहसील काटोल जिला नागपुर के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया है। इस अंधे कत्ल का खुलासा करने में थाना प्रभारी राजेश सातनकर, उप निरीक्षक छत्रपाल धुर्वे, अमित पवार, महिला आरक्षक मोनिका, आरक्षक नरेन्द्र कुशवाह, आरक्षक चालक सेवाराम की मुख्य भूमिका रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *